English
ptc-logo

History of Police Training College

पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय का संक्षिप्त इतिहास

उत्तराखण्ड राज्य गठन के पश्चात, दिनांकः 07.10.2002 को पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय की स्थापना की घोषणा की गई तथा शा0सं0 जी0आई0-2073/7-1-2009-800(1290) /2005 दिनांकः 22.07.2009 के अनुसार 6.782 हे0 वन भूमि तथा 6.691 निजी काश्तकारों की भूमि पुलिस विभाग को हस्तान्तरण हुई। इसके साथ ही पेयजल की विकट समस्या को दृष्टिगत रखते हुए टिहरी राजा से 0.953 हे0 भूमि पृथक से क्रय कर पम्प हाउस की व्यवस्था की गई। इस प्रकार पी0टी0सी0 हेतु कुल भूमि-14.226 हे0 हस्तगत हुई है।
प्रथम चरण के निर्माण कार्य हेतु रू0ः 1450 लाख की धनराशी आवंटित की गयी। दिनांकः 01 मई 2011 को तत्कालीन मा0 मुख्यमंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा तत्कालीन पुलिस महानिदेशक श्री ज्योति स्वरूप पाण्डेय की उपस्थिति में पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय का शुभारम्भ किया गया।
शासनादेश संख्याः 1302/ग्ग्(2)/375/पुलिस/07 दिनांकः 09.08.2010 के द्वारा पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय हेतु 188 पद स्वीकृत किये गये । इस शासनदेश के पैरा-2 के अनुसार अनुमन्य किये गये स्वीकृत पदों के सापेक्ष प्रथम चरण में 74 विभिन्न पदों की स्वीकृति प्रदान की गई। इसकेे अतिरिक्त शासनादेश संख्याः 364/ग्ग्.1/13-1(27)2007 दिनांकः 27.05.2013 के द्वारा द्वितीय चरण हेतु विभिन्न पदों के 55 कार्मिकों की पूर्ति करने की स्वीकृति प्रदान की गई।
उत्तराखण्ड राज्य गठन के पश्चात उप निरीक्षक ना0पु0/पीएसी/अभि0 के 252 पदों की सीधी भर्ती की गई जिन्हें राज्य में पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय स्थापित न होने के कारण पुलिस उन्हें आधारभूत प्रशिक्षण के लिए पी0टी0सी0 मुरादाबाद उत्तर प्रदेश भेजा गया। वर्ष 2011 तक राज्य में जो भी उ0नि0 एवं पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारियों की पुलिस विभाग में नियुक्ति की गई या विभागीय पदोन्नति हुई उनमें से पुलिस उपाधीक्षकों को भीमराव अम्बेडकर पुलिस अकादमी मुरादाबाद एवं पंजाब पुलिस अकादमी फिल्लौर तथा उप निरीक्षकों को पी0टी0सी0 मुरादाबाद से प्रशिक्षित कराया गया।
वर्ष 2011 में पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय के अस्तित्व में आने के उपरान्त सर्वप्रथम दिनांकः 01.05.2011 से नागरिक पुलिस के नये भर्ती 109 रिक्रूट आरक्षियों को तथा वर्ष 2012 में 237 नये भर्ती रिक्रूट आरक्षियों को 09-09 माह का आधारभूत प्रशिक्षण सफलतापूर्वक सम्पन्न कराया गया। उक्त के अतिरिक्त पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय द्वारा वर्ष 2013 में आबकारी निरीक्षक, आबकारी उप निरीक्षक एवं आरक्षी आबकारी को भी आधारभूत प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इसके उपरान्त पी0टी0सी0 नरेन्द्र नगर में उप निरीक्षक स0पु0/गुल्मनायक पदोन्नति प्रशिक्षण, हे0कां0 स0पु0/पीएसी पदोन्नति प्रशिक्षण कुशलतापूर्वक सम्पन्न कराये गये। वर्ष 2016 में 304 उप निरीक्षक ना0नु0 रैंकर का प्रशिक्षण सम्पन्न कराया गया। तत्पश्चात सीधी भर्ती के राजपत्रित अधिकारियों के प्रथम बैज का दिनांकः 06.04.2015 से 13.08.2016 तक चयनित पुलिस उपाधीक्षक, सहायक रेडियो अधिकारी, एवं मुख्य अग्निशमन अधिकारी का आधारभूत प्रशिक्षण संचालित किया गया।